BLOG


"जीवन आनंद है, संघर्ष नहीं।

  04/10/2016 03:23:08 PM      admin

"जीवन आनंद है, संघर्ष नहीं। मनुष्य जैसा चाहे अपना जीवन वैसा बन सकता है, आनंदमय या दुखी।"


0 Comments

Leave a Comment